गुणनिधान श्री हनुमान
January 30, 2019 • नारायणदास चतुर्वेदी

गुणनिधान श्री हनुमान

दासन में दास हैं अनन्य रामचन्द जू के,
दूतन में दूत बर चतुर अनंत हैं।
विद्या-बुद्धि-बल के निधान गुन-खानि आछे,
दीनन के हेत सदा बने दयावंत हैं।।
बेग राम-बान-सो प्रसिद्ध हैं ‘नरायण जू’,
शांतिप्रद संतन में साँचे सुचि संत हैं।
दानिन में दानी, त्यों ही ध्यानिन में ध्यानी महा,
ग्यानिन में अग्रगण्य बीर हनुमंत हैं ।।

- नारायणदास चतुर्वेदी